BSEB Matric Result 2020 Update : बिहारबोर्ड मैट्रिक का मूल्यांकन 14 अप्रैल तक स्थगित

31 March, 2020, 5:13 pm

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने 10वीं की परीक्षाओं की कॉपियों का मूल्यांकन की तारीख आगे बढ़ा दी है। इससे पहले 31 मार्च तक कोरोना वायरस महामारी के कारण मूल्यांकन स्थगित कर दिया गया था। अब देशभर में केंद्र सरकार के लॉकडाउन के कारण मैट्रिक की कॉपियों का मूल्यांकन 14 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है। 

इसकी जानकारी सभी डीईओ को पत्र लिख कर दे दी गयी है। पटना डीईओ ज्योति कुमार ने बताया कि 14 अप्रैल तक अभी मूल्यांकन नही होगा। कुछ कोरोना को ले कर लॉक डाउन है। ज्ञात हो कि मैट्रिक मूल्यांकन सात मार्च से शुरू हुआ था। लेकिन शिक्षक हड़ताल के कारण इसकी तिथि आगे बढ़ी। 25 मार्च तक मूल्यांकन खत्म करनी थी। लेकिन लॉक डाउन के कारण इसे 31 मार्च तक बढ़ाया गया। अब 14 मार्च किया गया है।

नोटिफिकेशन के अनुसार मूल्यांकन का काम अगले आदेश तक स्थगित रहेगा। आपको बता दें कि पिछले साल मार्च और अप्रैल में बिहार बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के नतीजे जारी कर दिए थे। 
इस साल बिहार बोर्ड मैट्रिक में कुल 15, 29, 393 छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे। इनमें 7,83034 लड़कियां शामिल हैं। बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षाएं 17 फरवरी से 24 फरवरी के बीच आयोजित हुईं थी। ये परीक्षाएं पटना के 1368 केंद्रों पर आयोजित की गईं थी।

दरअसल, 10वीं की कॉपियों का मूल्यांकन का कार्य जारी था लेकिन देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए 21 मार्च को इसे स्थगित कर दिया गया। तय कार्यक्रम के मुताबिक कॉपियों का मूल्यांकन 25 मार्च तक खत्म किया जाना था और अप्रैल के पहले सप्ताह में रिजल्ट निकलने की संभावना थी। पिछले साल 6 अप्रैल को मैट्रिक के परिणाम आए थे।

 

Punjab Board (PSEB) Class 8th Results 2020 : Release Date and Time

31 March, 2020, 4:54 pm

PSEB class 8 results 2020: The results of class 8 will be released by April 5, 2020. The students can check the results through the website- fastresult.in

The Punjab School Education Board (PSEB) is likely to declare the result for class 8 exams conducted within this week. The exams for class 8 concluded by March 14, before the lock-down was announced. While the question paper by set by the board, the evaluation will be done by SCERT (State Council for Education Research and Training).

Talking to official from the board has said that the class 8 result can be expected within this week. The result will be available at the website, fastresult.in. The exams for class 10 and 12 have been postponed due to the coronavirus lockdown.

The revised date sheet was also released. The pending class 10 exams are to be begin from April 3 and for class 5, the pending exam will be on April 1. These dates are further expected to be postponed as the Prime Minister announced a nationwide lock-down till April 14.

Check Result : Click Here

Punjab Board PSEB class 8 result: How to check marks online

Step 1: Download the our APP FastResult.

Step 2: Click on the result link

Step 3: Log-in using roll number

Step 4: Result will appear, download

Till last year, class 5 and 8 exams were conducted by SCERT, however, following several goof-ups the PSEB had decided to conduct the exams centrally under its supervision. Last year, during class 8 social science exam, Punjabi question paper was mistakenly distributed at various centers.

 

Bihar Board 12th Result 2020 : बिहार बोर्ड 12वीं पास कॉमर्स स्टूडेंट्स यहां बनाएं करियर

28 March, 2020, 5:02 pm

बिहार बोर्ड ने परीक्षा समाप्ति के 42 दिन बाद मंगलवार को इंटरमीडिएट का रिजल्ट जारी कर दिया। कुल 80.44 फीसदी विद्यार्थी सफल रहे। बिहार बोर्ड इंटर के छात्रों को रिजल्ट जल्दी जारी होने का फायदा मिलेगा। रिजल्ट जारी होने के चलते बिहार बोर्ड के छात्रों को इंजीनियरिंग व मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करने का ज्यादा समय मिलेगा। अब बिहार बोर्ड के स्टूडेंट्स हायर एजुकेशन के बारे में सोचना है। 12वीं कॉमर्स से पास करने वालों के लिए अवसरों की लाइन लगी हुई है। 12वीं के बाद कॉमर्स विषय के छात्र चार्टर्ड अकाउंटेंस से लेकर कम्पनी सेक्रेटरी जैसे कोर्स कर सकते हैं। इनके अलावा भी कॉमर्स में छात्रों के लिए बहुत कुछ है। कॉमर्स वालों के लिए बैकिंग, फाइनेंस, इंश्योरेंस, बिजनेस मैनेजमेंट, सेल्स, फाइनेंशियल प्लानिंग, वेल्थ मैनेजमेंट में अच्छे मौके हैं। यहां जानते हैं इनके बारे में -

- बीकॉम या बीकॉम ऑनर्स करके आप फाइनांशियल मार्केट्स, अकाउंटिंग फाइनांस, ऑपरेशंस, टेक्सेशन और दूसरे कई फील्ड्स में अपना करियर बना सकते हैं। बैचलर ऑफ कॉमर्स इन अकाउंटिंग एंड फाइनांस 12वीं के बाद किया जाने वाला तीन साल का डिग्री प्रोग्राम है। इस कोर्स के बाद अकाउंट्स और फाइनांस में करियर के मौके काफी होते हैं। 

- बैचलर ऑफ कॉमर्स (बैंकिंग एंड इंश्योरेंस) एकेडमिक और प्रोफेशनल डिग्री दोनों है. इस प्रोग्राम में अकाउंटिंग, बैंकिंग, इंश्योरेंस लॉ, बैंकिंग लॉ और इंश्योरेंस रिस्क कवर की जानकारी दी जाती है। 

- आईसीडब्ल्यूए - यह कॉस्ट अकाउंटेंसी सीए से मिलता-जुलता कोर्स है। द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एंड वर्क्स अकाउंटेंट ऑफ इंडिया कॉस्ट अकाउंटेंसी का कोर्स कराता है। 12वीं के बाद भी स्टूडेंट्स ICWA का कोर्स कर सकते हैं। 

- द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) चार्टर्ड अकाउंटेंट का कोर्स कराता है। 12वीं के बाद इसमें कदम रखा जा सकता है। 

- इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया (आईसीएसआई) देश में कंपनी सेक्रेटरी प्रोग्राम चलाता है। 12वीं के बाद इसमें आवेदन किया जा सकता है। 

- हालांकि किसी भी स्‍ट्रीम से 12वीं करने वाले स्‍टूडेंट बीबीए कर सकते हैं, लेकिन कॉमर्स स्‍टूडेंट्स के बीच यह कोर्स खासा लोकिप्रिय है। यह तीन साल का डिग्री कोर्स है, जिसमें स्‍टूडेंट्स को बिजनेस एडमिनिस्‍ट्रेशन के गुर सिखाए जाते हैं। इसके बाद एमबीए कर सकते हैं।

- बीसीए में 12वीं में मैथ्स मांगते हैं। इसलिए बीसीए और फिर एमसीए कर कंप्यूटर एप्लीकेशंस की फील्ड में करियर बना सकते हैं। 

- इन दिनों, एक्चुरियल साइंस की भारी डिमांड है और बी कॉम के स्टूडेंट इस एक्चुरियल साइंस के जरिए इंश्योरेंस, सोशल सिक्योरिटी, फाइनेंस, कंसल्टिंग, बीपीओ और केपीओ में अच्छा करियर बना सकते हैं।

- एसएससी, डीएसएसएसबी, आरआरबी, बैकिंग से जुड़ी सरकारी नौकरियों में जा सकते हैं। 12वीं पास और कॉमर्स ग्रेजुएट्स के लिए काफी नौकरियां निकलती हैं। 

कॉमर्स में संभावनाएं : 

बैकिंग, कर-निर्धारण (टैक्सेशन), उद्योग, निवेश और शेयर ब्रोकिंग के क्षेत्र में कॉमर्स ग्रैजुएट की मांग है।

- कॉम इन म्युच्अल फंड, बीकॉम इन इंवेस्टमेंट, बीकॉम इन इश्योरेंस आदि की बैकिंग व निवेश के क्षेत्र में काफी मांग है

- इंश्योरेंस और शेयर मार्केट में भी कॉमर्स ग्रैजुएट के लिए अवसर है।

- सरकारी विभागों में एसएससी के जरिए अकाउंटेंट की वेकेंसी आती है। कैग भी वेकेंसी लेकर आता है। शुरुआती वेतन 30,000-50,000 रुपए तक होता है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के लिए भी इनकम टैक्स ऑफिसर पद के लिए कॉमर्स गै्रजुएट अप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में टैक्स कंसल्टेंट की नियुक्ति होती है। इसमें कॉमर्स ग्रैजुएट्सा का बड़ी तादाद में चयन किया जाता है।

 

BSEB Bihar Board 12th Science Result 2020 : बिहार बोर्ड इंटर साइंस पास स्टूडेंट्स के लिए करियर ऑप्शंस

28 March, 2020, 3:43 pm

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 की परीक्षा में साइंस स्ट्रीम में कुल 5,05,467 विद्यार्थी सम्मिलित हुए थे जिसमें कुल 3,56,042 छात्र तथा 1,49,425 छात्राएं थे। इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 की साइंस स्ट्रीम में कुल 2,24,971 विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन में, 1,62,471 विद्यार्थी सेकेंड डिवीजन में और 3,601 विद्यार्थी थर्ड डिवीजन में पास हुए हैं। इस प्रकार, साइंस स्ट्रीम में कुल 3,91,199 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं, जो इस स्ट्रीम की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का 77.39 प्रतिशत है। अब 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए अपने लिए हायर एजुकेशन का ऑप्शन चुनने का वक्त है। 

अकसर 12वीं पास करने के बाद विद्यार्थी इस बात को लेकर कंफ्यूज रहते हैं कि सफल करियर बनाने के लिए कौन सा कोर्स चुना जाए। वैसे तो साइंस साइड में बेशुमार अवसर हैं लेकिन इसके बावजूद वह 12वीं पास करने के बाद असमंजस में रहते हैं। असल में साइंस एक बहुत बड़ी स्‍ट्रीम हैं जिसमें एक या दो नहीं बल्कि ढेरों विकल्‍प मौजूद हैं। हम यहां पर आपको कुछ ऐसे ही ऑप्‍शंस के बारे में बता रहे हैं जो आपको अपने करियर में एक अलग मुकाम हासिल करने में मदद करेंगे। 

साइंस स्ट्रीम में इंटर पास करने वाले स्टूडेंट्स के लिए करियर बनाने के बहुतेरे विकल्प मौजूद हैं। नॉन मेडिकल और मेडिकल दोनों ही फील्ड में अवसरों की लाइन लगी हुई है। नॉन मेडिकल स्टूडेंट्स के लिए जहां आईटी फील्ड हाथ खोले मजबूती के साथ खड़ी है, वहीं मेडिकल साइंस स्टूडेंट्स के लिए हेल्थ सेक्टर बेशुमार संभावनाओं के साथ मौजूद है। असल में साइंस एक बहुत बड़ी स्‍ट्रीम हैं जिसमें एक या दो नहीं बल्कि ढेरों विकल्‍प मौजूद हैं। हम यहां पर आपको कुछ ऐसे ही ऑप्‍शंस के बारे में बता रहे हैं जो आपको अपने करियर में एक अलग मुकाम हासिल करने में मदद करेंगे। 

पीसीबी (फिजिक्स, केमिस्ट्री, बॉयो) वाले विद्यार्थियों के लिए

एमबीबीएस, बीडीएस, बी. फार्मा, फार्मा डी, बीएससी नर्सिंग, बीएचएमएस, बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी, बीयूएमएस, होमियोपैथी, आयुर्वेद, यूनानी, नैचूरोपैथी, एग्रीकल्चर साइंस, हम्यूमेन बायोलॉजी

पीसीएम (फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स) वाले  विद्यार्थियों के लिए

इंजीनियरिंग, बीएससी, बीससीए, बीआर्क, बी फार्मेसी, बीबीए,कमर्शियल पायलट ट्रेनिंग, डिप्लोमा कोर्स इन फायर सेफ्टी, बैचलर ऑफ इंटीरियर डिजाइन, बीसीए, बैचलर ऑफ डिजाइन, 

अगर कोई प्रोफेशन कोर्स नहीं सूझ रहा है तो बीएससी इन फिजिक्स, मैथ्स, माइक्रोबायोलजी में जाया जा सकता है। 

नए ट्रेंड में लोकप्रिय हो रहे साइंस के ये बेहतरीन करियर विकल्प

रोबोटिक साइंस
स्पेस साइंसइस फील्ड 
वॉटर साइंसय
नैनो-टेक्नोलॉजी
माइक्रो-बायोलॉजी
एन्वायरमेंटल साइंस
डेयरी साइंस 
एस्ट्रो-फिजिक्सअगर
एस्ट्रो-फिजिक्स: 

- इन सबके अलावा अगर 12वीं पास विद्यार्थी एनडीए, नेवी (मरीन), आर्मी (टेक्नीकल ब्रांच), मरचेंट नेवी की प्रतियोगी परीक्षाएं में हिस्सा लेते हैं तो सीधा कम्यूनिकेशन हो जाता है। 

- एसएससी, डीएसएसएसबी, आरआरबी, बैकिंग से जुड़ी सरकारी नौकरियों में जा सकते हैं। 12वीं पास और साइंस ग्रेजुएट्स के लिए काफी नौकरियां निकलती हैं। अगर आप बिहार में रहकर ही सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो राज्य सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा साल में विभिन्न पदों के लिए होने वाली भर्ती परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं, और साथ-साथ डिस्टेंस या ओपन से ग्रेजुएशन कर सकते हैं। 

वैसे इस स्ट्रीम से 10+2 करने के बाद परंपरागत तौर पर छात्र इंजीनियरिंग- मेडिकल एंट्रेंस पर ही अपना पूरा फोकस रखते हैं। 

कुछ ऐसे कोर्सेज भी हैं, जिनके आधार पर जॉब पाना आसान हो सकता है-

बीएससी (फॉरेंसिक साइंस) : इस तीन वर्षीय कोर्स के बाद देश के विभिन्न राज्यों के पुलिस विभागों में बतौर फॉरेंसिक एक्सपर्ट जॉब मिलने की संभावना हो सकती है। प्रमुख संस्थानों में डॉ.भीमराव अंबेडकर मराठवाड़ा यूनिवर्सिटी (औरंगाबाद), डा. हरिसिंह गौड़ यूनिवर्सिटी (सागर), राजा बहादुर वेंकट रामा रेड्डी वीमेंस कॉलेज (हैदराबाद) आदि हैं।

बीएससी (होम साइंस) : इस कोर्स में अन्य विषयों के साथ  हेल्थ साइंस एंड न्यूट्रिशन की ट्र्रेंनग भी दी जाती है। ऐसे ट्रेंड युवाओं के लिए जॉब्स के अवसर हॉस्पिटल्स, हेल्थ क्लबों, स्पोट्र्स संगठनों, स्कूलों आदि में हो सकते हैं। दिल्ली यूनिवर्सिटी (दिल्ली) सहित देश की तमाम यूनिवर्सिटी में यह कोर्स उपलब्ध है।

बीएससी (बायोइन्फॉर्मेटिक्स) : मेडिकल साइंस के क्षेत्र में हाल के वर्षों में अनुसंधान और शोध के कार्यकलापों में काफी तेजी आई है। इसमें बायोइन्फॉर्मेटिक्स का कम योगदान नहीं है। आने वाले समय में ऐसे एक्सपट्र्स की मांग में तेजी आने की संभावनाओं से इन्कार नहीं किया जा सकता। पंजाब यूनिवर्सिटी (चंडीगढ़) के अतिरिक्त देश की कई अन्य यूनिवर्सिटीज में यह कोर्स उपलब्ध है।

बीएससी(एग्रीकल्चर साइंस) : इसमें उच्च शैक्षिक योग्यता रखने वाले युवाओं की बतौर कृषि वैज्ञानिक और कृषि विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के रूप में नियुक्तियां की जाती हैं। इस विषय से सम्बद्ध अन्य महत्वपूर्ण कोर्सेज में डेयरी टेक्नोलॉजी, एग्रीकल्चर इंजीनिर्यंरग आदि का भी उल्लेख किया जा सकता है। इन कोर्सेज में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् द्वारा आयोजित चयन परीक्षा के आधार पर एडमिशन दिए जाते हैं।

बीएससी (एन्वायर्नमेंटल  साइंस) : विश्व भर में पर्यावरण संरक्षण के लिए एन्वायर्नमेंटल साइंस की पृष्ठभूमि वाले लोगों की मांग हाल के वर्षों में काफी बढ़ी है। यह कोर्स डॉ. बी. आर. अंबेडकर यूनिवर्सिटी(आगरा) सहित देश के कई विश्वविद्यालयों में उपलब्ध है। 

बीएससी(नर्सिंग) : स्वास्थ्य सेवाओं में ट्रेंड नर्स के लिए अवसरों में बढ़ोतरी हुई है। देश में सैकड़ों की संख्या में सरकारी एवं निजी हॉस्पिटल्स एवं नर्सिंग कॉलेज हैं, जहां पर इसके कोर्स चल रहे हैं।

बीएससी (जियोलॉजी) : इस कोर्स में पर्यावरण विज्ञान,खनिज एवं तेल उत्खनन, संसाधन प्रबंधन प्रमुख हंै। दिल्ली यूनिवर्सिटी (दिल्ली), बीएचयू (वाराणसी) के अतिरिक्त अन्य संस्थानों में यह कोर्स उपलब्ध है। 

बीएससी (आईटी) : इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं के लिए यह उपयोगी कोर्स सिद्ध हो सकता है। फिलहाल देश में प्राइवेट यूनिवर्सिटीज में ही यह कोर्स उपलब्ध है। 

इनके अतिरिक्त बीएससी (पैरामेडिकल), बीएससी (मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी), बीएससी (बायोकैमिस्ट्री), बीएससी (बायोफिजिक्स), बीएससी (स्टैटिस्टिक्स), बीएससी (बायोटेक्नोलॉजी), बीएससी (फॉरेस्ट्री), बीएससी (कंप्यूटर साइंस), बैचलर ऑफ फार्मेसी, बैचलर ऑफ वेटरिनरी साइंस एंड एनिमल हसबैंड्री, बीयूएमएस, इंटिग्रेटेड एमएससी आदि का भी साइंस आधारित महत्वपूर्ण कोर्सेज में नाम ले सकते हैं।

 

BSEB Bihar Board 12th Arts Result 2020 : बिहार बोर्ड 12वीं पास आर्ट्स स्टूडेंट्स यहां बनाएं करियर

28 March, 2020, 1:01 pm

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा परिणाम 2020 में आर्ट्स स्ट्रीम में कुल 6,28,363 विद्यार्थी सम्मिलित हुए थे जिसमें कुल 2,53,199 छात्र तथा 3,75,164 छात्राएं सम्मिलित हुए। इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 के आर्ट्स स्ट्रीम में कुल 1,75,017 विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन में, 2,86,454 विद्यार्थी सेकेंड डिवीजन में तथा 50,113 विद्यार्थी थर्ड डिवीजन में पास हुए हैं। इस प्रकार आर्ट्स स्ट्रीम में कुल 5,11,745 विद्यार्थी पास हुए हैं जो इस स्ट्रीम की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का 81.44 प्रतिशत है।

अब एक सवाल स्टूडेंट्स को जरूर परेशान कर रहा होगा कि अब क्या करें, खासकर आर्ट्स स्टूडेंट को। आर्ट्स को लेकर आम धारणा है कि इसे कम नंबर वाले या पढ़ाई में कमजोर छात्र चुनते हैं। लोग सोचते हैं इसमें बेहद कम अवसर हैं और सफल होने की संभावनाएं बेहद कम हैं। लेकिन सच तो यह है कि इस फील्ड में भी बेशुमार अवसर हैं। जानिए आर्ट्स से 12वीं पास करने के बाद आप कहां- कहां जा सकते हैं- 

• 12वीं के बाद आप होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर होस्पिटैलिटी क्षेत्र में नौकरी हासिल कर सकते हैं। इसके लिए NCHMCT प्रवेश परीक्षा दें।

• बैंकिंग, फाइनेंस, इंश्योरेंस की दुनिया में भी आपके लिए दरवाजे खुले हुए हैं। कई तरह के डिप्लोमा कोर्सेज आपके लिए उपलब्ध हैं।

• आर्ट्स से 12वीं करने वालों की संवाद क्षमता अच्छी हो जाती है। इसलिए वह कंटेंट राइटिंग, मास कम्युनिकेशन में आ सकते हैं। इसके लिए 12वीं पास करने के बाद मास कम्युनिकेशन में बैचलर डिग्री कोर्सेज उपलब्ध हैं। एडवर्टाइजिंग में जा सकते हैं।

• फ्रेंच, रशियन, इंग्लिश जैसे फॉरेन लेंग्वेज में डिग्री या डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं।

• क्रिएटिव काम करना है तो ग्राफिक डिजाइनिंग, 

• सोशोलॉजी में डिग्री हासिल कर सोशल वर्क से जुड़ी इंडस्ट्री में आ सकते हैं।

• फैशन डिजाइनिंग का कोर्स इस फील्ड में आ सकते हैं। 

• इवेंट मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं। इवेंट मैनेजमेंट कोर्स भी प्लस टू के बाद एक अच्छा विकल्प है।

• अगर आपकी रुचि एक्टिंग की फील्ड में आप एक्टर बनना चाहते हैं तो प्लस टू के बाद आप सीधे एक्टिंग कोर्स कर सकते हैं।

• अगर अपने देश के इतिहास में आपकी रुचि है और पर्यटन के क्षेत्र में आपका रुझान है तो आप टूरिस्ट मैनेजमेंट का कोर्स करके बतौर टूरिस्ट गाइड अपना करियर शुरु कर सकते हैं।

• अगर आपने 12वीं में साइकोलोजी पढ़ा है और आपका इस विषय में रुझान है तो आप आगे भी साइकोलोजिस्ट के कोर्स के लिए भी एप्लाई कर सकते हैं।

• इसके अलावा अगर आप अकैडमिक लाइन में ही जाना चाहते हैं तो देश की टॉप यूनिर्वसिटीज़ से बीए या बीए ऑनर्स का कोर्स करने के बाद आप बीएड कर सकते हैं।

• आप अगर गवर्नमेंट सेक्टर में जाना चाहते हैं तो एसएससी, डीएसएसएसबी, आरआरबी जैसी संस्थाएं कई तरह की प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित करती हैं जिन्हें क्रैक कर आप सीधे सरकारी नौकरी पा सकते हैं।

• 12वीं के बाद आप एलएलबी करके वकील बन सकते हैं।

• सोशल मीडिया का स्कोप बढ़ता जा रहा है। 12वीं के बाद बीए करें और फिर इससे जुड़ा डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर अच्छा करियर बनाया जा सकता है।

• साइकोलॉजी में ग्रेजुएशन करने के बाद आप खुद की प्रैक्टिस शुरू कर सकते हैं।

• इकोनॉमिक्स, स्टेटिस्टिक्स ऑर्ट्स ग्रेज्युएट्स के लिए इकोनॉमिस्ट, डेटा एनालिटिक्स, सेल्स, बैंक, सरकारी इंस्टीट्यूट, आरबीआई, सेबी जैसी संस्थाएं, रिसर्च, इंडियन इकोनॉमिक सर्विस जैसे बेहतर करियर ऑप्शन हैं।

 

Jharkhand Board 10th, 12th Result 2020 : Postponed Due to Coronavirus Pandemic

27 March, 2020, 11:45 am

Informing about the development, Board chairman Arvind Kumar said, 'the Jharkhand Class 10 and Class 12 results for 2019-20 have been deferred indefinitely due to the country-wide lockdown'.

The Jharkhand Academic Council has postponed JAC 10th result 2020, JAC 12th result 2020 due to the Coronavirus outbreak.

Informing about the development, Board chairman Arvind Kumar said, “the Jharkhand Class 10 and Class 12 results for 2019-20 have been deferred indefinitely due to the country-wide lockdown”.

“From March 20 onwards, the answer sheets were scheduled to be evaluated, but because of the lockdown, it couldn’t be done. If by April 14, the situation is normal then the answer scripts will be evaluated and the Jharkhand Board Result 2020 may get declared in the month of May,” Kumar added.

He further added that it will take a minimum of 20 days to evaluate the paper and 15 days to tabulate the marks. So it would take around 35 days to eventually declare the JAC Board Class 10 result 2020, JAC Board Class 12 Result 2020.

A total of 6.21 lakh students appeared for class 10 and class 12 examinations.

 

Karnataka PUC 1 Results 2020 : Released after April 14, Not Today

27 March, 2020, 10:26 am

While an earlier circular had mentioned March 27 as the result date, the department of PU education informed that it will not be possible as the lock down is under progress.

The results of the first year Pre-University exams of Karnataka will be declared only after April 14.

While an earlier circular had mentioned March 27 as the result date, the department of PU education informed that it will not be possible as the lock down is under progress.

"The evaluation is over. However, in order to tabulate the results, college principal, one or two lecturers and non teaching staff need to collate the data and be present in the colleges. This is impossible under the present circumstances. Thus, we cannot expect the results until the shutdown is over," said Kangavalli M, director of the department.

Bengaluru south students need not go to their colleges to see their first year Pre-University College results. In the district, there are 56,250 students who have appeared for the first year PUC exams last year. Among this 50,694 students have passed. The overall result of the district is 90.12%. In Arts stream, 83.40% of students have passed, in commerce, 88.46% and in science stream 94.18% of students have passed respectively.

Andhra Pradesh Government has Directed Schools to Promote Students of Classes 6 to 9

27 March, 2020, 9:42 am

As schools were unable to conduct annual examinations due to lockdown, the Andhra Pradesh government has directed schools to promote students of classes 6 to 9. “It is decided to cancel the summative assessment- II examinations for the classes VI to IX, and declare the students as ‘ALL PASS’,” read the government circular.

Apart from Andhra Pradesh, Kendriya Vidyalayas, Gujarat, and Uttar Pradesh’s governments have decided to mass promote students of classes 1 to 8. The state education department has also postponed the SSC or class 10 examinations scheduled to be held from March 31.

Many states, including Rajasthan, Punjab and Chhattisgarh have deferred their board class 10th, 12th, and state level examinations. Last week, Central Board of Secondary Education (CBSE) and Council for the Indian School Certificate Examinations (CISCE) have also postponed the class 10,th 12th board examination and evaluation process till March 31.

 

Bihar 10th Result 2020 Update : जानें कब जारी हो सकते हैं बिहार बोर्ड दसवीं के नतीजे

26 March, 2020, 4:48 pm

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड ने मंगलवार  बिहार बोर्ड इंटर के तीनों संकायों के नतीजे घोषित कर दिए हैं। कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए नतीजे ऑनलाइन जारी किए गए। वहीं बिहार बोर्ड मैट्रिक के नतीजों में अभी थोड़ी देरी हो सकती है। हालांकि बिहार बोर्ड ने मैट्रिक के नतीजों के लिए अभी कोई तारीख निश्चित नहीं की है, वहीं कोरोना वायरस को देखते हुए कॉपियों का मूल्यांकन भी 31 मार्च तक टाल दिया गया है। 

दरअसल कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड ने 10वीं क्लास की कॉपियों के मूल्यांकन 31 मार्च तक टाल दिया था। इसलिए मैट्रिक के नतीजों की तारीख को लेकर अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। वहीं केंद्र सरकार ने 21 दिन यानी 14 अप्रैल तक के लिए देश भर में लॉक डाउन किया है। इससे पहले बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा था कि 10वीं की परीक्षाओं के मूल्यांकन को 31 मार्च तक टाल दिया गया है और अगले आदेश तक यह स्थगित रहेगा। 

बिहार बोर्ड के पीआरओ राजीव द्विवेदी ने बताया कि मैट्रिक का मूल्यांकन अभी पूरा नहीं हो पाया है, चूंकि देश भर में लॉक डाउन है, इसलिए 31 मार्च तक मूल्यांकन नहीं होगा। उसके बाद ही कुछ होगा। सूत्रों की मानें तो परिस्थितियों के देखते हुए अगर कॉपियों के मूल्यांकन का काम 31 मार्च से शुरू भी हुआ तो कम से 9 से 10 दिन रिजल्ट तैयार करने में लगेंगे। इसलिए बिहार बोर्ड के नतीजों में देरी होगी। मैट्रिक के नतीजे अप्रैल के आखिर में ही आने की उम्मीद जताई जा रही है।

बिहार बोर्ड की मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा 2020 24 को समाप्त हुईं थी।  मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा 17 से शुरू हुईं थी। मैट्रिक परीक्षा समाप्त होने के साथ ही बिहार बोर्ड इंटर की कॉपियों के मूल्यांकन में जुट गया था। इंटर का मूल्यांकन 26 फरवरी से शुरू हो गया था, वहीं मैट्रिक का मूल्यांकन पांच मार्च से शुरू हुआ था। मैट्रिक मूल्यांकन के लिए 169 केंद्र बनाए गए थे। 

 

Goa Board SSC (10th) Exam Postponed amid Coronavirus Pandemic

26 March, 2020, 11:33 am

The examinations up to class 8 were cancelled in Goa to contain the spread of coronavirus

Amid coronavirus pandemic, Goa Board of Secondary and Higher Secondary Education (GBSHSE) has postponed the class 10 examination scheduled to be conducted from April 2, 2020. The board will announce the revised dates soon. The Goa board has also cancelled the class 12 board exams which had only three papers left.

Check Official Notice : Click Here

The examinations up to class 8 were cancelled earlier as a precautionary measure to contain the spread of coronavirus. A circular issued by Goa Education Director Vandana Rao informed that exams for classes 9 to 11 will be held as per schedule with schools asked to seat students one metre apart.

Several social distancing measures, including closure of schools, gyms, pubs, clubs, public swimming pools, casinos etc are already in place in the coastal state. The state does not has reportedly any Covid-19 patient as yet.

Many states, including Rajasthan, Punjab and Chhattisgarh have deferred their board class 10, 12, and state level examinations. This week, Central Board of Secondary Education (CBSE) and Council for the Indian School Certificate Examinations (CISCE) have also postponed the class 10, 12 board examination and evaluation process till March 31. The National Testing Agency has also put on hold the JEE Main scheduled to begin from April 5.

The state is in lockdown till March 31 to contain the spread of coronavirus.

 

Bihar Board 12th District wise Topper 2020 : जानें बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट में किस जिले में किसने किया टॉप

25 March, 2020, 6:04 pm

बिहार बोर्ड के इंटर रिजल्ट में हर साल सुधार हो रहा है। हर साल पास प्रतिशत बढ़ रहा है। इस बार प्रथम श्रेणी में पास करने वालों की संख्या 4 लाख 43 हजार 284 रही। अर्थात 45.75 फीसदी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में पास हुए। जबकि पिछले साल 41.86 फीसदी विद्यार्थी को प्रथम श्रेणी मिला था। कुछ ऐसी ही स्थिति द्वितीय श्रेणी की भी रही। इस बार तीनों संकाय में प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी के रिजल्ट में सुधार हुआ है। द्वितीय श्रेणी की बात करें तो कुल 4 लाख 69 हजार 439 उत्तीर्ण हुए। अर्थात द्वितीय श्रेणी में 48.45 फीसदी विद्यार्थी को सफलता मिली। तृतीय श्रेणी में पास करने वाले की संख्या भी इस बार काफी कम रही। तृतीय श्रेणी में कुल 56 हजार 115 उत्तीर्ण हुए। अर्थात 5.79 फीसदी विद्यार्थी तीतृय श्रेणी में आए। विज्ञान संकाय में नेहा कुमारी 476 अंक (95.2%) लाकर सूबे में अव्वल रही। वाणिज्य में कौसर फातिमा और सुधांशु नारायण चौधरी 476 (95.2%) अंक लाकर संयुक्त टॉपर रहे। कला संकाय में साक्षी कुमारी ने 474 (94.80%) अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पाया है।

Bihar Board 12th Result - Check Here

यहां जानें किस जिले में किस स्टूडेंट ने किया टॉप, क्लिक करें और देखें पूरी लिस्ट

Arts District wise Topper 2020 List : Click Here

Commerce District wise Topper 2020 List : Click Here

Science District wise Topper 2020 List : Click Here

विज्ञान संकाय का रिजल्ट

विज्ञान संकाय में पांच लाख से अधिक विद्यार्थी- विज्ञान संकाय में कुल 505467 विद्यार्थी शामिल हुए। इसमें से प्रथम श्रेणी से 224971, 162471 विद्याथी  द्वितीय श्रेणी और 3601 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी से उत्तीर्ण हुए। इस तरह कुल 391199 व 77.39 प्रतिशत विद्यार्थी सफल हुए।

वाणिज्य स्ट्रीम का रिजल्ट

वाणिज्य संकाय में 71 हजार विद्यार्थी शामिल हुए-वाणिज्य संकाय में 71004 विद्यार्थी शामिल हुए। इसमें 43296 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी, 20514 द्वितीय श्रेणी और 2401 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी से पास हुए हैं। इस तरह 66215 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए, जो कुल विद्यार्थियों का 93.26 प्रतिशत है। 

कला संकाय का रिजल्ट

कला संकाय से छह लाख से ज्यादा शामिल हुए-कला संकाय से 628363 विद्यार्थी शामिल हुए। इसमें से 175017 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी, 286454 विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी और 50113 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी से उत्तीर्ण हुए। इस तरह इस संकाय में 511745 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए, जो परीक्षा में शामिल हुए विद्यार्थियों का 81.44 प्रतिशत है।

 

Bihar Board 12th Toppers List 2020 : बिहार बोर्ड 12वीं के तीन स्ट्रीम के टॉपर, देखें पूरी लिस्ट

25 March, 2020, 1:08 pm

बिहार बोर्ड 12वीं का रिजल्ट जारी हो गया है। साइंस स्ट्रीम में नेहा कुमारी ने कुल 476 अंक (95.2 फीसदी) के टॉप किया है। कॉमर्स स्ट्रीम में कौसर फातिमा तथा सुधांशु नारायण चौधरी ने कुल 476 अंक (95.2 फीसदी) प्राप्त कर टॉप किया है। आर्ट्स में सक्ष्य कुमारी ने 474 अंक (94.80 फीसदी) प्राप्त कर टॉप किया है। इस प्रकार, कला, वाणिज्य एवं कला संकाय तीनों में लड़कियों ने पूरे राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इस बार कॉमर्स, साइंस, आर्ट्स स्ट्रीम में कुल मिलाकर 80.44 प्रतिशत पास हुए हैं।

Bihar Board 12th Result - Check Here

पिछले साल 79.76 प्रतिशत पास हुए थे। इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 में कुल 4,43,284 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में, 4,69,439 विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी में तथा 56,115 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इस प्रकार, इस परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थि यों का कुल प्रतिशत 80.44 प्रतिशत है। उल्लेखनीय है कि इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 का आयोजन राज्य के 1,283 परीक्षा केन्द्रों पर दिनांक 03.02.2020 से 13.02.2020 के बीच कदाचारमुक्त तथा पूरी कड़ाई एवं शांतिपूर्ण वातावरण में किया गया था।

संकाय विद्यार्थी का नाम रजिस्ट्रेशन नंबर कुल अंक रैंक
आर्ट्स साक्षी कुमार R-350040798-18 474 1
आर्ट्स मुकेश कुमार R-230280546-18 470 2
आर्ट्स सिंपी कुमारी R-840130626-18 469 3
आर्ट्स रोहित पासवान R-820610068-18 465 4
आर्ट्स ज्ञानोदय कुमार R-820610066-18 465 4
आर्ट्स पूजा कुमारी R-340420219-18 465 4
आर्ट्स नवीन कुमार R-820610067-18 464 5
आर्ट्स अवधेश कुमार R-820610065-18 464 5
कॉमर्स कौसर फातिमा R-510010019-18 476 1
कॉमर्स सुधांशु नारायण चौधरी R-510010457-18 476 1
कॉमर्स ब्यूटी राज R-110150638-18 474 2
कॉमर्स राहुल कुमार R-170010748-18 474 2
कॉमर्स कर्नल कुमार R-110091039-18 473 3
कॉमर्स अमित कुमार R-110090964-18 472 4
कॉमर्स कणाल कुमार R-710020791-18 470 5
कॉमर्स सबीहा परवीन R-110150819-18 470 5
कॉमर्स यशवंत राज R-820610059-18 470 5
कॉमर्स सौम्या भारती R-510050720-18 470 5
साइंस नेहा कुमारी R-430700022-18 476 1
साइंस विकी कुमार R-410440239-18 474 2
साइंस जहांगीर आलम R-360020136-18 474 2
साइंस शिवम कुमार वर्मा R-230020391-18 473 3
साइंस मनीष कुमार जायसवाल R-710430106-18 473 3
साइंस नवीन कुमार R-530530120-18 471 4
साइंस गौतम कुमार R-850480035-18 471 4
साइंस अभिषेक सुमन R-530010099-18 471 4
साइंस शिवानी शर्मा R-850010124-18 471 4
साइंस उज्ज्वल कुमार R-230200295-18 471 4
साइंस ज्योतसना शिखा R-220070021-18 471 4
साइंस किशन कुमार R-210011068-18 471 4
साइंस किशन कुमार R-820610033-18 471 4
साइंस सुशील कुमार गुप्ता R-510020445-18 470 5
साइंस श्रेया कुमरी R-230020112-18 470 5
साइंस अंकिता कुमारी R-530410012-18 470 5

 

विज्ञान संकाय का परीक्षाफल:-

-  इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 की परीक्षा में विज्ञान संकाय में कुल 5,05,467 विद्यार्थी सम्मिलित हुए, जिसमें कुल 3,56,042 छात्र तथा 1,49,425 छात्राएँ थे।

- इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 के विज्ञान संकाय में कुल 2,24,971 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में, 1,62,471 विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी में तथा 3,601 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इस प्रकार, विज्ञान संकाय में कुल 3,91,199 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं, जो इस संकाय की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का 77.39 प्रतिशत है।

वाणिज्य संकाय का परीक्षाफल:-

- इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 की परीक्षा में वाणिज्य संकाय में कुल 71,004 विद्यार्थी सम्मिलित हुए, जिसमें कुल 47,060 छात्र तथा 23,944 छात्राएँ सम्मिलित हुए।

- इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 के वाणिज्य संकाय में कुल 43,296 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में, 20,514 विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी में तथा 2,401 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इस प्रकार, वाणिज्य संकाय में कुल 66,215 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं, जो इस संकाय की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का 93.26 प्रतिशत है। 

कला संकाय का परीक्षाफल:-

इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 की परीक्षा में कला संकाय में कुल 6,28,363 विद्यार्थी सम्मिलित हुए, जिसमें कुल 2,53,199 छात्र तथा 3,75,164 छात्राएँ सम्मिलित हुए।

- इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2020 के कला संकाय में कुल 1,75,017 विद्यार्थी  प्रथम श्रेणी में, 2,86,454 विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी में तथा 50,113 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इस प्रकार, कला संकाय में कुल 5,11,745 विद्यार्थी  उत्तीर्ण हुए हैं, जो इस संकाय की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का 81.44 प्रतिशत है।

 

download india's

#1 fast result app

Enter your phone number to get install link

Play Store Link - FastResult

or

Apple Store Link - FastResult
 Download FastResult App

to know your result

register here

why choose fastresult ?

  • Save & Share Your Result

    You can save and share your result with yours friends or family via social media like whatsapp, facebook etc with single click in PDF & Image Format.

  • Notification

    Get notification of your Result & Exam time table/Date Sheet when it is out.

  • Fast Result Showing & Downloading

    We use latest technology which helps you to view or download your result with fast speed.

  • Discuss

    You can discuss your queries or question with all users and get answer of question.You can post your queries in text or image.Get likes on your post.

What our users say about us...

check your result now on the go!


download india's #1 fast result app


Enter your phone number to get install link

or

Play Store Link - FastResult Apple Store Link - FastResult